TechnoTejas.Online मैं आपका स्वागत है ... टेक्नोलॉजी से जुड़ी हर खबर की जानकारी पाइए वह भी हिंदी में....

C Programming Langauge क्या है?

C Langauge क्या है?



सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज काफी पुरानी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के रूप में होनी चाहिए, यह एक स्ट्रक्चर्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की सहायता से कंप्यूटर या अन्य मशीनो के लिए प्रोग्राम लिखकर उन्हें संचालित किया जाता है। आज जितने उन्नत प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे- जावा, .NET, पीएचपी, विजुअल बेसिक, जावास्क्रिप्ट आदि, सभी सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर आधारित है।

इसलिए यदि आप C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखाते हैं तो आप अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीख सकते हैं। आज भी C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को बनाने में किया जाता है।

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम और UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम को भी बनाने मे C प्रोग्रामिंग का उपयोग किया गया था।

C प्रोग्रामिंग को पढ़ाने से पहले आपके कंप्यूटर मे टर्बो C ++ इंस्टॉल होना चाहिए। यह एक सी ++ या सी का कंपाइलर है, यह एक प्रकार का अनुवादक है जो स्रोत कोड को ऑब्जेक्ट कोड में बदलने का काम करता है, सरल शब्दों में, कंपाइलर द्वारा प्रोग्राम मे त्रुटि को चेक किया जाता है।


History of C Language In Hindi (C Programming का इतिहास) 

सन 1960 मे कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी ने एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अविष्कार किया था। व्हो बी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बेसिक कंबाइंड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का नाम दिया गया था। लेकिन इसमें कुछ खामिया मौजूद थी किंतु (बी) प्रोग्रामिंग भाषा एक ओपन सोर्स प्रोजेक्ट थी और कंप्यूटर वैज्ञानिक डेनिस रिची ने इसमें काफी कुछ सुधार और परिवर्तन किया और (बी) प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के संशोधित रूप ने सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को जन्म दिया। इसलिए, डेनिस रिची को सी प्रोग्रामिंग भाषा का निर्माता माना जाता है। सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अविष्कार सन 1972 मे बेल लेबोरेटरीज मे डेनिस रिची और उनकी टीम द्वारा किया गया था। B प्रोग्रामिंग भाषा में संशोधन का मुख्य उद्देश्य UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण करना था।


Features of C Programming Language In Hindi (C प्रोग्रामिंग भाषा की विशेषताएं)


C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में निर्देश कमांड देने के लिए लोअर केस लेटर्स का इस्तेमाल किया जाता है।

C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में बनाये जाने वाले प्रोग्राम्स के Execute होने की Speed ​​Sharp होती है।

C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मुख्य विशेषता यह है कि इसमे उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के साथ -साथ लो लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के भी संपूर्ण गुण मौजूद हैं।

सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक ऐसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमें सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर दोनों प्रकार के सॉफ्टवेयर मेये जा सकते हैं।

ज्यादातर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर जैसे की घरों के अनुप्रयोग, संगीत खिलाड़ी, वीडियो संपादक, एनिमेशन सॉफ्टवेयर, गेम्स आदि, सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग कर बनाये जाते हैं क्योंकि सी प्रोग्रामिंग से बने प्रोग्राम काफी तेजी से निष्पादित होते हैं।

सी प्रोग्रामिंग भाषा को विधानसभा भाषा मे लिखा गया है।

C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को जानें बहुत ही आसान होता है क्योंकि यह Simple English Language में होता है।


Basic Concepts of C Programming


Basic Syntax

C एक संरचित प्रोग्रामिंग भाषा है, जो ऊपर से नीचे की ओर कार्य करती है। सरल शब्दों में, जब तक शीर्ष स्पष्ट निष्पादन नहीं होता है तब तक यह नीचे पर कार्य नहीं करता है। C प्रोग्रामिंग का बेसिक सिंटैक्स कुछ इस प्रकार है हैडर, बॉडी और कोड स्टेटमेंट इन तीन चीज़ों से मिलकर एक बेसिक प्रोग्राम बनता है।



C Operators in Hindi

एक ऑपरेटर एक प्रतीक होता है जो कंप्यूटर को कुछ गणितीय या तार्किक जोड़तोड़ प्रदर्शित करने के लिए कहता है कि ऑपरेटर का उपयोग कार्यक्रम में डेटा और चर का हेर फेर करने के लिए उपयोग किया जाता है। C प्रोग्रामिंग भाषा संचालन के लिए विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन करने के लिए कई ऑपरेटर प्रदान करता है। जैसे असाइनमेंट ऑपरेटर्स, अरिथमेटिक ऑपरेटर्स, लॉजिकल ऑपरेटर्स और कई तरह के ऑपरेटर्स होते हैं और ये ऑपरेटर आमतौर पर कई तरह के वेरिएबल या कॉन्स्टेंट पर काम करते हैं। सी लैंग्वेज में ऑपरेटर्स के बीच ज्यादातर ऑपरेटर्स बाइनरी होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे दो ऑपरेंड लेते हैं और कुछ केवल एक ऑपरेटर लेते हैं।


C Arrays in Hindi

Array Same Data Type के Variables का संग्रह होता है दूसरे शब्दो में यह एक समान डेटा आइटम्स का Group होता है, इसका मतलब यह हुआ Array केवल एक ही प्रकार के डेटा को ही स्टोर करता है। Array एक विशेष Variable होता है जो एक Index का उपयोग करके एक ही Variable के उपयोग से एक से अधिक Value को बनाए रख सकता है Arrays को एक बहुत Simple Syntax मे Define किया गया है।


C Strings in Hindi

अक्षर के एक अनुक्रम को आमतौर पर एक स्ट्रिंग के रूप में जाना जाता है शब्द, पते, नाम, आदि वाक्य को संसाधित करने के लिए स्ट्रिंग्स का उपयोग प्रोग्रामिंग भाषा मे किया जाता है। सी मे एक एक स्ट्रिंग बस एक शून्य-समाप्ति चरित्र सरणी है स्ट्रिंग को हमेशा चरित्र सरणी के रूप में घोषित किया जाता है, दूसरे शब्दों मे अक्षर सरणी को स्ट्रिंग्स कहा जाता है। सी में एक स्ट्रिंग्स वास्तव में एक कैरेक्टर एरे में है और एक इंडिविजुअल कैरेक्टर वैरिएबल के रूप में केवल एक लेटर को संग्रहीत करना है, हमें स्ट्रिंग को स्टोर करने के लिए कैरेक्टर एरे की आवश्यकता होती है।



C Data Types in Hindi

डेटा टाइप एक की-वर्ड है जिसका उपयोग डेटा के टाइप की पहचान करने के लिए किया जाता है। आप कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी मे मेमोरी के स्पेस की पर्याप्त मात्रा को आवंटित करके कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी में इनपुट के स्टोरेज के लिए डेटा टाइप का उपयोग किया जाता है। दूसरे शब्दों मे कहे तो डेटा प्रकार का उपयोग कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी में उपयोगकर्ता के इनपुट को प्रतिनिधित्व करने के लिए उपयोग किया जाता है।

C Variable in Hindi

सी प्रोग्रामिंग भाषा मे वेरिएबल्स का उपयोग डेटा मूल्यों को स्टोर करने के लिए किया जाता है, सतत के विपरीत वेरिएबल्स परिवर्तनीय होते हैं, हम एक कार्यक्रम के निष्पादन के दौरान एक परिवर्तनीय की मूल्य को बदल सकते हैं। एक परिवर्तनीय सिर्फ एक नामांकित क्षेत्र का भंडारण होता है जो एक एकल मूल्य संख्यात्मक या चरित्र को बनाए रख सकता है और अलग-अलग मेमोरी स्पॉट पर जहां डेटा रहता है उसको ऑब्जेक्ट कहा जाता है।

C Function in Hindi

फ़ंक्शन एक शक्तिशाली प्रोग्रामिंग टूल होता है, एक फ़ंक्शन कोड का एक ब्लॉक होता है जो विशिष्ट कार्य करता है जिसमें एक नाम है और यह उपयोगी होता है, यह आवश्यक प्रोग्राम में कई अलग-अलग भागों से निष्पादित किया जा सकता है और यह कॉलिंग प्रोग्राम के लिए है एक मूल्य भी वापस कर सकता है। एक फंक्शन या तो किसी वैल्यू को रिटर्न कर सकता है या कुछ भी रिटर्न नहीं देता है। फंक्शन एक सब प्रोग्राम है जो कोडिंग करने में आपकी मदद करता है।

C Loops in Hindi

सी भाषा मे लूप स्टेटमेंट का उपयोग कोड के एक ब्लॉक को निष्पादित करने के लिए किया जाता है। यह ब्लॉक को तब तक के लिए निष्पादित करता है जब तक दी गई शर्त, सही नहीं हो जाती है। जब कुछ कथन को कई बार निष्पादित करने की आवश्यकता होती है, तब हम एक लूप स्टेटमेंट का उपयोग करते हैं।

C Pointers in Hindi

पॉइंटर्स एक बहुत शक्तिशाली प्रोग्रामिंग टूल हैं। इसका उपयोग करके आपने प्रोग्राम्स की दक्षता में सुधार कर सकते हैं। यह असीमित मात्रा मे डेटा को संभालने में भी आपकी मदद करता है पॉइंटर्स कुछ चीजें को बहुत आसान बना सकते हैं। पॉइंटर्स का उपयोग व्यापक रूप से प्रोग्रामिंग में किए जाते है यह वैरिएबल आइडेंटिफ़ायर का उपयोग किए बिना किसी अन्य वैरिएबल की मेमोरी प्लेस को संदर्भित करने के लिए उपयोग में लाई जाती है यह मुख्य रूप से लिंक्ड सूचियों में उपयोग किया जाता है और संदर्भ द्वारा कॉल करता है। 

C Recursion in Hindi

जिस प्रक्रिया में एक फ़ंक्शन सीधा या अप्रत्यक्ष रूप से कॉल करता है उसे रिपिटिटिव कहा जाता है और इसी प्रकार फ़ंक्शन रिकर्सिव फ़ंक्शन कहा जाता है कि रिकर्सिव एल्गोरिथम का उपयोग करें, कुछ समस्याएं को बहुत सरलता से हल किया जा सकता है। पुनरावर्ती एक प्रोग्रामिंग तकनीक है जो प्रोग्रामर को स्वयं के संदर्भ में कार्य करने की अनुमति देता है सी मे। यह एक ऐसा फंक्शन का रूप लेता है जो सेल्फ कॉल करता है रिकर्सिव फंक्शन के बारे में सोचने के लिए एक उपयोगी तरीका यह है कि उनकी कल्पना एक प्रक्रिया के रूप में की जानी चाहये जहां निर्देश में से एक प्रक्रिया हरणी होती है।

C File Handling in Hindi

C मे फ़ाइल हैंडलिंग का मतलब है कि हम फ़ाइल को बनाएँ कर सकते हैं ओपन कैन है हटा कर सकते हैं और फ़ाइल में सामग्री को संशोधित भी कर सकते हैं। इस ऑपरेशन के लिए हम कुछ फ़ाइल हैंडलिंग फ़ंक्शन का उपयोग करते हैं। सी लैंग्वेज मे फाइल हैंडलिंग एक फाइल डिस्क पर बाइट्स के अनुक्रम को रिप्रेजेंट करती है जहां संबंधित डेटा का एक ग्रुप स्टोर होता है। फ़ाइल डेटा के स्थायी संग्रह के लिए बनाया गया है यह एक तैयार किया गया संरचना है। सी लैंग्वेज में, हम एक फाइल को डिक्लेयर करने के लिए फाइल टाइप की एक कंपोजिशन पॉइंटर का उपयोग करते हैं।



 C  Programs.

C "Hello, World!" Program



Program to Display "Hello, World!"

#include <stdio.h>
int main() {
   // printf() displays the string inside quotation
   printf("Hello, World!");
   return 0;
}


Output

Hello, World!



C Program to Multiply Two Floating-Point Numbers



Program to Multiply Two Numbers



#include <stdio.h>
int main() {
    double a, b, product;
    printf("Enter two numbers: ");
    scanf("%lf %lf", &a, &b);  
 
    // Calculating product
    product = a * b;

    // Result up to 2 decimal point is displayed using %.2lf
    printf("Product = %.2lf", product);
    
    return 0;
}

OutPuts 

Enter two numbers: 2.4
1.12
Product = 2.69


C Program to Add Two Integers 




Program to Add Two Integers



#include <stdio.h>
int main() {    

    int number1, number2, sum;
    
    printf("Enter two integers: ");
    scanf("%d %d", &number1, &number2);

    // calculating sum
    sum = number1 + number2;      
    
    printf("%d + %d = %d", number1, number2, sum);
    return 0;
}


Output

Enter two integers: 12
11
12 + 11 = 23



C Program to Check Whether a Number is Even or Odd.


Program to Check Even or Odd

#include <stdio.h>
int main() {
    int num;
    printf("Enter an integer: ");
    scanf("%d", &num);

    // True if num is perfectly divisible by 2
    if(num % 2 == 0)
        printf("%d is even.", num);
    else
        printf("%d is odd.", num);
    
    return 0;
}

Output

Enter an integer: -7
-7 is odd.


C Program to Find Transpose of a Matrix

Program to Find the Transpose of a Matrix

#include <stdio.h>
int main() {
    int a[10][10], transpose[10][10], r, c, i, j;
    printf("Enter rows and columns: ");
    scanf("%d %d", &r, &c);

    // Assigning elements to the matrix
    printf("\nEnter matrix elements:\n");
    for (i = 0; i < r; ++i)
        for (j = 0; j < c; ++j) {
            printf("Enter element a%d%d: ", i + 1, j + 1);
            scanf("%d", &a[i][j]);
        }

    // Displaying the matrix a[][]
    printf("\nEntered matrix: \n");
    for (i = 0; i < r; ++i)
        for (j = 0; j < c; ++j) {
            printf("%d  ", a[i][j]);
            if (j == c - 1)
                printf("\n");
        }

    // Finding the transpose of matrix a
    for (i = 0; i < r; ++i)
        for (j = 0; j < c; ++j) {
            transpose[j][i] = a[i][j];
        }

    // Displaying the transpose of matrix a
    printf("\nTranspose of the matrix:\n");
    for (i = 0; i < c; ++i)
        for (j = 0; j < r; ++j) {
            printf("%d  ", transpose[i][j]);
            if (j == r - 1)
                printf("\n");
        }
    return 0;
}

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ